Pawan Singh Biography Hindi, Bhojpuri Life

Pawan Singh Biography


Pawan Singh Biography


 एक समय ऐसा हुआ करता था जब भोजपुरी फ़िल्म और गाने सिर्फ बिहार तक ही सीमित थी लेकिन समय के साथ शानदार गाने और फिल्मों और तू एक्टर की वजह से अब भोजपुरी भारत के हर कोने में पसंद की जाती है और अगर कहा जाए कि भोजपुरी विश्व स्तर पर भी काफी तेजी से लोकप्रिय हो रही है तो यह भी कोई ग़लत बात नहीं होती और तू तो भोजपुरी को इतने लोकप्रिय करने में कुछ बहुत ही अच्छे एक्टर का हाथ रहा है और इन्हीं एक दोनों में से एक का नाम में पहुंची जो कि भोजपुरी गानों और फ़िल्म जगत के सुपरस्टार माने जाते है पवन सिंह भोजपुरी की उन इशारों में से एक है जिनके फैन बिहार यूपी के साथ साथ आपको पूरे भारत में देखने को मिल जाएंगे अगर आप इनके एक विज्ञान एक फ़िल्म देखे होंगे तो हमारे खेलते तब तक तो अभी इनके बहुत बड़े फैन बन चूके होंगे दूसरों कौनसी के ये सफर उतना भी आसान नहीं था चलिए हम आपको इनके बारे में शुरू से बताती हैं कि किस तरह से एक सुपर स्टार बने तो दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है .


6 March 1986  से जब Pawan Singh का जन्म बिहार राज्य में आरा जिले के जोकहरी गांव में हुआ था जब कोई भी लड़का पांच या छे साल का रहता है तो पढ़ना या खेलना पसंद करता है लेकिन उस टाइम तो कौनसी खुद से और मुनिया बजाकर गाना गाया करते थे गाने की रुचि बचपन से इसलिए बढ़ी क्योंकि इनके चाचा श्री अर्जित सिंह जी एक स्टेज परफॉर्मर थे और बचपन से ही अपने चाचा के साथ स्टेज शो करने के लिए संघ में चले जाते थे इसके अलावा दोस्तों अपनी शुरुआती पढ़ाई इन्होंने अपने गांव के स्कूल से ही कम्प्लीट की और आगे की पढ़ाई नहीं आरा से कंप्लीट किए हैं दोस्तों उनके गायन के टैलेंट को देखते हुए इनके चाचा सूची क्यों है इसको एक अच्छा कलाकार बनाया जाए उसके बाद इनको गाना सिखाने के लिए बहुत दूर दूर तक पैदल या साइकिल के लिए जाया करते थे और इसके अलावा रात में खुद से भी फ़ोन को करना सिखाते थे और इसलिए मात्र दुसऱ्या एका दस साल की उम्र में एक एलबम निकालती है और दुनिया वादी जो की काफी हिट रहा इसके बाद उन्होंने बहुत सारे एल्बम निकाले जो कि लोगों ने काफी सारा प्यार दिया लेकिन को पहचान दिलाने वाली सोमवारी पॉप लागेलु जब रिलीज हुआ तो न केवल भारत में बल्कि पूरे वर्ल्ड में फेमस हो गया और आज दुसतू लॉलीपॉप लागेलू सॉन्ग को बॉलीवुड के स्टार भी पसंद करते हैं और अभी भी वो एक जानेमन इस उम्र हो चुका है उसके बाद वो एक अपना मूवी भी निकाल दिए रंगली चुनरिया तोहरे नाम जो की उतना तो नहीं चला फिर भी उनको बहुत सारा प्यार मिला और उस फ़िल्म के बाद बहुत सारे फ़िल्म नए जैसे प्रतिकिया स्वंय के.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां