Geeky Ranjit Biography | YouTube Chanel | Age

Geeky Ranjit Biography





 अगर कोई भी व्यक्ति अपने डेडीकेशन के साथ काम करे तो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है हैदराबाद के रहने वाले Geeky Ranjit भी कुछ की तरह थी आज उनके हितों पर लाखों की ओर से रंजीत बचपन से ही कुछ अलग करना चाहते थे उन्हें ठीक से रिलेटिड हर जानकारी चेन्नई की उत्सुकता थी दोस्त लोग तो रंजीत को जानते हैं होंगे अगर आप लोग नहीं जानते तो हम आपको बताते हैं कि इनके हितों करें कि कि Geeky Ranjit नाम के एक चैनल है इसके फाउंडर और हम Geeky Ranjit के बारे में बात कर रहे हैं पिछली दूर तो हम लोग इनके जी उनके बारे में शुरू से जान लेते है दोस्तों Geeky Ranjit Kumar का जन्म उन्नीस को हैदराबाद में हुआ था रणजीत कुमार ने कॉमर्स से ग्रेजुएशन किया है इसके बाद सेंटर फॉर डेवलपमेंट एडवांस कम्प्यूटिंग महाराष्ट्र से कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग का कोर्स किया है जब कोई भी व्यक्ति बिना किसी लालच के अपने पैशन की तरफ ध्यान दें और अपने काम को एन्जॉय रूप में समझे तो उसे सबसे जुड़ने से कोई रोक नहीं सकता हैदराबाद के रहने वाले रणजीत नहीं ऐसे ही लोगों में से एक हैं उन्हें बचपन से ही कंप्यूटर और गैजेट्स का शौक था उनकी पीढ़ी के बाद चीजें तो उन्होंने कॉमर्स से ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है और उसके बाद सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग महाराष्ट्र से कम्प्यूटिंग प्रोग्रामिंग का कोर्स किया जहाँ उन भी अपने प्रदर्शन को एक्सप्लोर करने का मौका मिला रंजीत कोटि का इतना बड़ा चस्का था कि पूरी रात भर प्रोग्राम किया करते थे और उनका इंटरेस्ट नहीं गजट में भी बहुत था यहाँ तक कि उनके दोस्तों को कुछ भी लेना होता था तो वे सब रंजीत से कंसल्ट करके लेते थे Geeky Ranjit की इतनी ज्यादा पैशन की वजह से ही उसके दोस्तों ने उनका नाम भी रख दिया कॉलेज खत्म हो जाने के बाद वे भी अपने ब्लॉग पर बन गए उनके काफी सारे कंट्री भी बन गए हैं जिनमें से मैक्सिमम से बिलौंग करते थे उन्होंने गैजेट का शौक तो था ही तो उन्होंने सोचा कि क्यों ने एक वेबसाइट बनाएँ जिससे पूर्व के बीच पुष्ट उन्होंने दो हज़ार सात में टिकटों भी ईंटों पर जीत डॉट कॉम नाम की एक वेबसाइट बनाई जिसपर लेटेस्ट गेजेट के रिव्यु को करने लगे रंजीत को शुरु से ही एक बहुत अच्छी आदत रही जिसकी वजह से लोग उनके काम को इतना पसंद करते हैं और उनके काम करने का तरीका को कभी भी अपने विवर्स को गले इन्फोर्मेशन नहीं देते चाहे उन्हें उस प्रॉडक्ट का टेस्ट करने में दस दिन ही क्यों न लॉन्ग जाए और यही वजह थी कि एक टू भी इन दो बजे डॉट कॉम उस वक्त बहुत अच्छी ठीक वेबसाइट में.







टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां