Vicky Kaushal Biography | National Film Award | Life story Hindi

           Vicky Kaushal Biography


Vicky Kaushal
Vicky Kaushal



दोस्तो कौन सोच सकता था कि एक साधारण से स्टंटमैन और एक्शन डाइरेक्टर का बेटा एक दिन अपनी बेहतरीन एक्टिंग के लिए नेशनल अवॉर्ड जीते गा लेकिन अपनी अनंत और संघर्ष में यह कारनामा कर दिखाया है Vicky Kaushal क्योंकि विक्की को हाल ही में पूरी फ़िल्म में किए गए उनकी शानदार एक्टिंग के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला साथ ही इसके अलावा आयुष्मान घटना को भी दस चैट से सम्मानित किया गया है लेकिन स्वास्थ्य महज कुछ साल पहले तक Vicky Kaushal  को ना तो कोई जानता था और नहीं पहचानना था लेकिन बॉलीवुड में कदम रखने के साथ ही उन्होंने अपनी एक्टिंग का ऐसा जादू खैरा या उनके हजारों नहीं बल्कि लाखों फैंस हैं और दूसरों Vicky Kaushal की लाइफ स्टोरी की हम सभी को insperision कर सकती है क्योंकि इस मुकाम को हासिल करने के लिए Vicky ने खुद मेहनत की है और एक एक से आगे करते हुए उन्होंने आज यह मुकाम पाया तो चलिए दोस्तों आज हम जानते हैं Vicky Kaushal की पूरी लाइफ स्टोरी

तो दोस्त कहानी की सुरबद होती है 16 May 1988(Date of birth) में जब सपनों के शहर मुंबई के एक चाल में Vicky Kaushal का जन्म हुआ उनके पिता का नाम श्याम कौशल है जो कि बतौर स्टंटमैन और एक्शन डायरेक्टर के तौर पर काम कर चुकी हैं वहीं विक्की की माँ का नाम बिना करसन है इसके अलावा विक्की कौशल की फॅमिली में उनका एक छोटा भाई भी है जिसका नाम सनी कौशल है और वह भी जल्द ही फ़िल्म इंडस्ट्री में कदम रखने जा रहे हैं और दोस्तों अगर विक्की के शुरुआती समय को देखा जाए तो उनकी फाइनेंशियल कंडीशन उतनी ज्यादा अच्छी नहीं थी क्योंकि उनके पिता को अपने काम के लिए कुछ ख़ास पैसे नहीं मिलते थे और फिर इसी तरह से विक्की ने अपनी स्कूल की पढ़ाई चुन्नीलाल दामोदरदास बर्फीवाला हाई स्कूल से की और फिर आगे चलकर राजीव गाँधी इंस्टिट्यूट ऑफ मौजी से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन में उन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री ली और दूसरा विक्की के पिता चाहते थे कि विक्की के पास एक अच्छी नौकरी और इसलिए वह हमेशा ही उन्हें पढ़ाई लिखाई के लिए प्रोत्साहित करते रहते थे हालांकि वे की पढ़ाई लिखाई में शुरु से ही सामान्य छात्र थे लेकिन उन्हें मूवीज़ देखने का काफी शौक था हालांकि अपने शौक से पहले उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद से एक आईटी कंपनी में जॉब देखी लेकिन कुछ महीने काम करने के बाद उन्हें यह अहसास होने लगा कि वापिस जॉब के लिए सूटेबल नहीं और फिर यहीं से Vicky Kaushal फ़िल्मों में अपने आप को आज़माने का सोचा और फिर शुरुआत में वह अपने पापा के साथ ही शूटिंग सेट पर जाया करते थे साथ ही उन्होंने किशोर नमित कपूर के एक्टिंग स्किल्स से टीवी और फिर ऐक्टिंग को और भी करीब से जानने के लिए लेकिन गैंग्स ऑफ वासेपुर फ़िल्म में असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर काम कीजिए और फिर यहाँ पर काम करने के बाद उनकी ऐक्टिंग स्किल्स भी काफी अच्छी हो गयी और फिर पहली बार Vicky Kaushal फ़िल्म के अंदर काम करते हुए नजर आए दो हज़ार बारह में जब लव शव ते चिकन खुराना पानी उन्हें छोटा सा किरदार निभाने का मौका मिला और फिर उसके बाद से दो हज़ार में एक्सपेरिमेंट शॉर्ट फ़िल्म रिक आउट और दो हज़ार पंद्रह में बॉम्बे वेलवेट जैसी फिल्मों में वह सपोर्टिंग रोल करते हुए नजर आते रहे.....



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां